राम रहीम का गुरु है ये सनकी तानाशाह, हवस मिटाने के लिए बच्चियों को स्कूल से…

493

भारत में गुरमीत राम रहीम और दुनिया में किम जोंग ऐसे दो नाम है जिनके नाम बड़े और दर्शन छोटे हैं, ये दोनों एक ही श्रेणी के हैं। राम रहीम के बारे में तो आप भली-भांति जानते होंगे लेकिन, उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग में उतना नहीं जानते होंगे। तो चलिए आज हम आपको किम जोंग असलियत बताते हैं। किम अपनी रंगीन मिजाज और शान-ओ-शौकत के लिए दुनिया भर में मशहूर है

ये सनकी तानाशाह राम रहीम से कई गुना आगे है। लड़कियों को खिलौना समझने वाला ये इंसान पूरी दुनिया के साथ-साथ उन तमाम लड़कियों के लिए भी खतरा है जो जवान और खूबसूरत है। मीडिया खबरों के अनुसार, किम जोंग स्कूल में पढ़ने वाली नाबालिग लड़कियों पर बुरी नजर रखता है। इन लड़कियों को वह अपने कैद खाने में रखकर हवस का शिकार बनाता है।

समुद्र में तैरता हुआ उसका महल अय्याशी का अड्डा है। यहाँ स्कूल में पढ़ने वाली लड़की जैसे ही 13 साल की होती है किम जोंग की आर्मी उन्हें स्कूलों से उठा लेती है। इसका मकसद होता है किम जोंग के ऐशगाह में पहुंचाना। ऐसी ऐशगाह जहां पर तानाशाह को खुश करने के लिए लड़कियों को बंधक बनाकर रखा जाता है। इन लड़कियों को नॉर्थ कोरिया में किम की क्वीन कहा जाता है। ये लड़कियां ऐशगाह में डांस, गाना और मसाज करती है।

मी-ह्यांग नाम की इस महिला ने दुनिया को बताया कि मैं तब सिर्फ 15 साल की थी, दो आर्मी मेरे क्लासरूम में घुसे और मुझे अपने साथ चलने को कहा। उन्होंने मेरे परिवार के बारे में पूछा, मेरे स्कूल रिकॉर्ड चेक किया। मैं उस वक्त चौंक गई जब मुझसे पूछा गया कि क्या तुम्हारा किसी लड़के से रिश्ता है, मेरा मेडिकल टेस्ट कराया गया और फिर मुझे 10 सालों के लिए तानाशाह की $ex स्लेव बना दिया गया।

आपको बता दें, किम जोंग अब तक 2000 लड़कियों की आबरू के साथ खिलवाड़ कर चुका है। उत्तर कोरिया के लड़कियों के दिल में 13 नंबर को लेकर खौफ पलता है क्योंकि किम उन्हीं लड़कियों को चुनता है जो 13 साल की हो और साथ ही लंबी हो, खूबसूरत हो और उनके चेहरे पर कोई दाग ना हो। हैरानी की बात ये है कि लड़कियों को 6 महीने की ट्रेनिंग के बाद तानाशाह से मिलवाया जाता था।