ये इन्फेक्शन भी बन सकता है मौत की वजह, इन लोगों को है खतरा

1021

हेल्थ डेस्क। सेप्सिस एक खतरनाक बीमारी है जो बॉडी में किसी इन्फेक्शन की वजह से होती है। यह किडनी इन्फेक्शन की वजह से भी हो सकती है तो किसी सिंपल कट या खरोंच की वजह से हुए इन्फेक्शन के कारण भी।

इसका शुरू में ही ट्रीटमेंट कर लिया जाए तो बीमारी को सीरियस होने से रोका जा सकता है। बीमारी के सीरियस होने पर इससे मरीज की मौत तक हो सकती है। इसमें क्या होता है?

इस बीमारी में बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ जाता है। इससे बॉडी में सूजन आ जाती है, साथ ही ब्लड क्लॉट भी बनने लगते हैं। इसमें बॉडी पार्ट्स को पर्याप्त ऑक्सीजन और न्यूट्रिएंट्स नहीं मिल पाते हैं।

जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, मुंबई में डायरेक्टर ऑफ मेडिसिन डॉ. अलताफ पटेलका कहना है कि सेप्सिस के संकेतों को सही समय पर पहचानकर इसका इलाज करवा लेना ही बेहतर ऑप्शन है।

ऐसा नहीं करने पर ऑर्गन फेलियर भी हो सकता है। इस कंडीशन को सीवियर सेप्सिस कहा जाता है। इससे आगे की थर्ड स्टेज को सेप्टिक शॉक कहा जाता है जिसमें मरीज की मौत तक हो सकती है।

1.प्लेटलेट्स कम हो जाना |
2.यूरिन में कमी आना |
3.लगातार कमजोरी रहना |

4.बॉडी टेम्परेचर में गिरावट आने के कारण ठण्ड लगना |
5.साँस लेने में प्रॉब्लम होना |

अब हम आपको बताते है की सेपिस्स का किन्हें ज्यादा खतरा होता है :– कमज़ोर इमूयुनिटी वाले लोगो को, डायाबिटिक पेशेंट्स को,एड्स के पेशेंट्स को, 101 डिग्री फारेनहाइट से ज्यादा या 98.6 फारेनहाइट से कम बुखार वाले व्यक्तियों  को |